यूपी के चित्रकूट जेल हत्याकांड में जेल अधीक्षक और जेलर समेत पांच किये गये निलंबित : OM TIMES

उत्तर प्रदेश (अभिषेक द्विवेदी, विशेष संवाददाता, ऊँ टाइम्स) यूपी में  चित्रकूट के जिला कारागार में शुक्रवार सुबह गैंगवार के दौरान हुए हत्याकांड में योगी सरकार ने बड़ी कार्रवाई किया है। जेल में दो बंदियों की हत्या और पुलिस की जवाबी फायरिंग में अपराधी अंशू दीक्षित के मारे जाने के मामले में जेल अधिकारियों व कर्मियों की लापरवाही सामने आई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर चित्रकूट जेल के अधीक्षक एसपी त्रिपाठी व जेलर महेंद्र पाल समेत पांच कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। डीजी जेल आनन्द कुमार ने इसकी पुष्टि की है। चित्रकूट जिला कारागार में नए अधीक्षक व जेलर की तैनाती भी कर दी गई है। अशोक कुमार सागर को जेल अधीक्षक और सीपी त्रिपाठी को जेलर नियुक्त किया गया है।
चित्रकूट जेल में हुई जघन्य घटना में सुरक्षा बंदोबस्त में बड़ी लापरवाही सामने आई है। अधिकारियों का कहना है कि जेल में पिस्टल कैसे पहुंची ? यह अभी पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो सका है। घटना की न्यायिक जांच होगी, जिसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। घटना में चित्रकूट पुलिस एफआइआर दर्ज कर रही है। पुलिस विवेचना में कई तथ्य पूरी तरह से स्पष्ट होने की संभावना है। निलंबित किए गए कर्मियों में जेल के हेड वार्डर के अलावा सुरक्षा-व्यवस्था में तैनात पीएसी का एक सिपाही भी है। डीजी जेल आनन्द कुमार का कहना है कि सभी बिंदुओं पर जांच कराई जा रही है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चित्रकूट जेल में दो बंदियों की हत्या तथा पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक कुख्यात की मौत के मामले को बेहद गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर घटना की जांच के लिए आयुक्त चित्रकूट डीके सिंह, आइजी चित्रकूट के. सत्यनारायण व डीआइजी कारागार मुख्यालय संजीव त्रिपाठी की संयुक्त टीम गठित की गई थी।  मुख्यमंत्री ने डीजी जेल आनन्द कुमार से छह घंटे में घटना की रिपोर्ट तलब की थी।
आप को बता दें कि चित्रकूट जिला जेल में शुक्रवार सुबह गैंगवार में कैराना पलायन के मुख्य आरोपित मुकीम काला और पूर्वांचल के माफिया विधायक मुख्तार के रिश्ते के भांजे और गैंग सदस्य मेराज अली की शार्प शूटर अंशु दीक्षित ने हत्या कर दी। हत्यारे अंशु को भी पुलिस मुठभेड़ में ढेर कर दिया गया। करीब दो घंटे गैंगवार व मुठभेड़ के दौरान जेल में 50 राउंड गोलियां चलीं। पहले बंदियों के साथ जेल के सुरक्षा कर्मी भी बैरकों में दुबके रहे। पुलिस पहुंचने पर बल मिला तो पोजीशन लेकर मोर्चा संभाल जवाबी फायरिंग की। एसपी चित्रकूट अंकित मित्तल ने बताया कि जेल में गैंगवार में शातिर अपराधियों मुकीम काला और मेराज अली की हत्या अंशु दीक्षित ने की है। मुठभेड़ में अंशु को भी मार गिराया गया है। पिस्टल 9 एमएम की है या और, इसकी जांच कराई जा रही है।. … वैसे कुछ लोगों को यह चर्चा करते हुए सुना गया है कि यह सब घटना सोची समझी प्लानबद्ध जैसी लग रही है, जिसमें बड़े और कई लोगों के हाथ होने की संभावना से इनकार भी नहीं किया जा सकता है, इस लिए इसकी सीबीआई जाँच जरूरी है, तभी इसका वास्तविक खुलासा हो सकता है! फिल हाल देखिए हो सकता है कि सच सामने आ ही जाय! …. आगे की ताजा जानकारी के लिए पढते रहिए ऊँ टाइम्स या फिर http://www.omtimes.in या http://www.ramdeodwivedi.com

लेखक: OM TIMES News Paper India

omtimes news paper (Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रकाशक एवं प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 , 🇮🇳

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s