सीरम इंस्टीट्यूट के प्लांट में लगी भीषण आग, पांच की हुई मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख : OmTimes

मुंबई (ऊँ टाइम्स) महाराष्ट्र में पुणे स्थित दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन उत्पाद कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट के एक निर्माणाधीन हिस्से में गुरुवार दोपहर बाद अचानक लगी आग में पांच लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। मृतकों में कोई भी सीरम इंस्टीट्यूट का कर्मचारी नहीं है। पीएम नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर दुख जताया है। ना ही इस अग्निकांड से कोरोना के लिए बन रही वैक्सीन के काम पर कोई प्रभाव पड़ा है। सीरम इंस्टीट्यूट के कई एकड़ में फैले परिसर में एक छह मंजिला निर्माणाधीन इमारत में दोपहर बाद करीब ढाई बजे छठी मंजिल पर आग भड़क उठी। बताया जा रहा है कि जहां आग लगी वहां पहले से कुछ ज्वलनशील पदार्थ रखे थे, जिनमें शार्ट सर्किट से आग लग गई। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के अनुसार, आग लगने के बाद जल्दी ही दमकल विभाग की पांच गाड़ियां व तीन पानी के टैंकरों ने वहां पहुंचकर आग बुझाने का काम शुरू कर दिया।
सीरम इंस्टीट्यूट की अपनी अग्निशमन टीम भी आग बुझाने में लगी थी। इसके बावजूद आग पर काबू पाने में करीब तीन घंटे लग गए। आग बुझने के कुछ देर बाद शाम करीब साढ़े छह बजे एक बार फिर छठी मंजिल पर ही आग की लपटें दिखाई देने लगीं। जिन्हें बुझाने का काम अब भी चल रहा है। दोबारा आग भड़कने से पहले प्रभावित क्षेत्र से पांच मृतकों के शव बरामद हो चुके थे तथा नौ लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। सर्च आपरेशन का काम एनडीआरएफ की टीम कर रही है।
मृतकों में दो व्यक्ति रमाशंकर व बिपिन सरोज उत्तर प्रदेश के, सुशील कुमार पांडे बिहार के व महेंद्र इंगले तथा प्रतीक पाष्टे पुणे के ही रहने वाले थे। ये पांचों निर्माणाधीन इमारत में श्रमिक के रूप में काम कर रहे थे। देर शाम सीरम इंस्टीट्यूट का दौरा करने के बाद राज्य के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि आग पूरी तरह बुझने के बाद शुक्रवार को सुबह प्रभावित क्षेत्र की फिर से पूरी जांच की जाएगी। तब मरने वालों की संख्या का सही पता लग सकेगा। उन्होंने कहा कि 99 फीसद उम्मीद यही है कि मरने वालों की संख्या पांच ही है। पवार के अनुसार, पूरी जांच के बाद ही आग लगने के सही कारण का भी पता चल सकेगा। सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग की जांच के लिए पुणे पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर ली है। पुलिस ने संस्थान के सुरक्षाकर्मियों, ठेके पर काम करवाने वाले सुपरवाइजर व सीरम के प्रबंधन का बयान लेना शुरू कर दिया है।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी व फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका के साथ मिलकर कोवीशील्ड वैक्सीन का उत्पादन कर रही है। सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा उत्पादित वैक्सीन का भारत में उपयोग भी शुरू हो चुका है। कई अन्य देशों को भी इसकी वैक्सीन भेजी जा रही है। कोरोना के लिए वैक्सीन उत्पादन के अलावा यह संस्थान बीसीजी, पोलियोमाइलिटीस, पोलियोवैक तथा बच्चो के लिए अन्य टीकों का निर्माण करती है। यहां प्रतिवर्ष 1.3 अरब टीके व प्रतिरक्षात्मक दवाएं तैयार की जाती हैं। इस संस्थान की स्थापना 1966 में साइरस पूनावाला ने की थी। अब उनके पुत्र अदार पूनावाला इस कंपनी के सीईओ हैं। यह कंपनी खुराक संख्या के अनुसार दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन उत्पादक कंपनी बन चुकी है।
पुणे के मेयर मुरलीधर मोहोल के मुताबिक, इमारत से काफी लोगों को निकाला गया लेकिन जब आग पर काबू पाया गया तो पांच शव मिले। कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। आग लगने की जानकाकी मिलते ही फायर ब्रिगेड की दस गाड़ियां मौके पर पहुंची। सीरम इंस्टीट्यूट के गेट नंबर एक पर लगी आग धीरे-धीरे आग बिल्डिंग की दूसरी, तीसरी, चौथी और पांचवीं मंजिल तक आग पहुंच गई।
आग की वजह से चारों ओर धुएं का गुबार फैल गया। सीरम इंस्टीट्यूट ने ही कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड को बनाया है। इस बीच, एसआइआइ के मंजरी प्लांट में आग लगने की घटना पर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा कि आग से दुर्भाग्य से कुछ जानमाल का नुकसान हुआ है। उन्होंने दिवंगत लोगों के परिवार के सदस्यों के लिए संवेदनाएं व्यक्त की हैं। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि आग नियंत्रण में है। पुणे नगर निगम के मुख्य अग्निशमन अधिकारी प्रशांत रानसेप ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की इमारत में आग नियंत्रण में है। 
इस बीच, एनडीआरएफ (नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स) की एक टीम पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया पहुंची है। वहीं, पुणे के पुलिस कमिश्नर अमिताभ गुप्ता के मुताबिक, हमें 2:45 बजे सीरम इंस्टीट्यूट की एक इमारत में आग लगने की सूचना मिली। पुलिस और फायर ब्रिगेड तुरंत मौके पर पहुंची। काफी लोगों को निकाल लिया गया है। इस इमारत में वैक्सीन का प्लांट या भंडारण नहीं किया जा रहा था। हम हर पहलू की जांच करेंगे। 
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग की वजह से हुई मौतों से बेहद दुखी हूं। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उन लोगों के परिवारों के साथ हैं, जिन्होंने अपनी जान गंवाई। मैं प्रार्थना करता हूं कि घायल लोग जल्द से जल्द ठीक हों।
राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा कि पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग की दुर्घटना में हुई मौतें दुर्भाग्यपूर्ण हैं। मेरी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।
सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया अध्यक्ष और एमडी ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में अत्यंत दुखद दिन है। हमें बेहद दुख हुआ है और दिवंगत लोगों के परिवार के प्रति हमारी संवेदना है। मानदंडों के अनुसार अनिवार्य राशि के अलावा प्रत्येक परिवार को 25 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। 
वहीं, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में SEZ-3 मंजिल इलाके की बिल्डिंग में आग लगी। वहां पर वेल्डिंग का काम हो रहा था। जिसकी वजह से आग लग गई। इस घटना में 5 लोगों की मृत्यु हुई है। 

लेखक: OM TIMES News Paper India

omtimes news paper (Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रकाशक एवं प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 , 🇮🇳 ऊँ टाइम्स , अविनाश द्विवेदी विशेष संवाददाता भारत , अभिषेक द्विवेदी विशेष संवाददाता उत्तर प्रदेश ,

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s