अब कितना दिन दूर है कोविड टीकाकरण, जानिए, DCGI की मंजूरी के बाद क्या है सरकार की प्लानिंग : OM TIMES

नई दिल्ली ( ऊँ टाइम्स )  कोरोना से जंग में भारत दोतरफा जीत की ओर बढ़ रहा है। रोजाना संक्रमण के नए मामलों में आ रही कमी के बीच अब टीके का दोहरा हथियार भी देश के हाथ में आ गया है। विषय विशेषज्ञ समिति (SEC) की सिफारिश पर मुहर लगाते हुए दवा नियामक ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने रविवार को सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दे दी। डीसीजीआइ डॉ वीजी सोमानी ने दोनों वैक्सीन को कोरोना वायरस के खिलाफ कारगर और पूरी तरह सुरक्षित बताया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सब ठीक रहा तो बुधवार या गुरुवार तक टीकाकरण शुरू हो सकता है। इसके तहत तीन करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों, सुरक्षा कर्मियों और सफाई कर्मियों को प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन दी जाएगी।
डीसीजीआइ की मंजूरी मिलने के तुरंत बाद स्वास्थ्य मंत्रालय सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक के साथ वैक्सीन की खरीद प्रक्रिया को अंतिम रूप देने में जुट गया। इस सिलसिले में वैक्सीन की डोज की उपलब्धता के साथ-साथ उसकी कीमत पर बातचीत की जा रही है। दोनों कंपनियों से स्वास्थ्य मंत्रालय यह जानने की कोशिश कर रहा है कि अगले दो-तीन या छह महीने में वे वैक्सीन की कितनी डोज और किस कीमत पर उपलब्ध करा पाएंगी। सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड की कीमत 200 से 250 रुपये के बीच रहने की संभावना है, वहीं भारत बायोटेक की कोवैक्सीन की कीमत अभी साफ नहीं है। भारत बायोटेक ने अभी तक यह भी नहीं बताया है कि उसने अब तक वैक्सीन की कितनी डोज तैयार कर ली है। वहीं सीरम इंस्टीट्यूट की पांच करोड़ डोज की गुणवत्ता पर सेंट्रल ड्रग लेबोरेटरी, कसौली की मुहर भी लग चुकी है। यानी ये वैक्सीन लोगों के लिए पूरी तरह तैयार है।
तीसरे फेज के ट्रायल के बीच में भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी का कारण स्पष्ट करते हुए डीसीजीआइ डॉ सोमानी ने कहा कि यह वैक्सीन भारत समेत पूरी दुनिया में सुरक्षा और असर को लेकर कारगर प्लेटफॉर्म पर तैयार की गई है। इसमें लाइव वायरस को कल्चर करने के बाद उसे निष्कि्रय कर वैक्सीन तैयार की जाती है। ऐसी वैक्सीन पूरे वायरस के खिलाफ लंबे समय तक प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करती है।
दो वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने खुशी जताई है। पीएम ने कहा कि यह देश के लिए गर्व की बात है कि जिन दो वैक्सीन को मंजूरी मिली है, वे दोनों ही मेड इन इंडिया हैं। यह आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने वाला और हमारे विज्ञानियों की इच्छाशक्ति का परिणाम है।

पीएम मोदी ने कोरोना महामारी के खिलाफ मुहिम में शामिल विज्ञानियों और इनोवेटर्स को बधाई दी और कहा यह भारत के लिए एक निर्णायक क्षण है। इस सफलता से आत्मनिर्भर भारत की मुहिम और तेज होगी। पीएम ने ‘सर्वे भवन्तु सुखिन:, सर्वे संतु निरामया’ को आत्मनिर्भर भारत की मुहिम का आधार बताया। पीएम मोदी ने इस दौरान विपरीत परिस्थितियों में असाधारण सेवा भाव के लिए डॉक्टरों, मेडिकल प्रोफेशनल्स, विज्ञानियों, पुलिस कर्मियों, सफाई कर्मियों और सभी कोरोना वारियर्स के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की और कहा कि देशवासियों का जीवन बचाने लिए उनके सदैव आभारी रहेंगे।
गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर कहा कि मेक इन इंडिया वैक्सीन को मंजूरी से पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत की मुहिम को और बल मिलेगा। उन्होंने कहा, ‘यह देश के कुशल नेतृत्व की जीत है, जो यह दर्शाता है कि दूरदर्शी नेतृत्व एक बड़ा बदलाव ला सकता है।’ उन्होंने पीएम मोदी सहित विज्ञानियों, डाक्टरों आदि को भी धन्यवाद दिया। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी इसे निर्णायक क्षण बताते हुए ट्वीट किया, ‘पीएम मोदी के नेतृत्व में देश ने नई ऊंचाई हासिल की है। उनके नेतृत्व में जो अद्भुत कार्य हो रहे हैं, वे चिरस्मरणीय रहेंगे।’ नड्डा ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश के हर वर्ग को जोड़ने की पीएम की कोशिशों को भी याद किया।

लेखक: OM TIMES News Paper India

omtimes news paper (Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रकाशक एवं प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 , 6307662484 🇮🇳 ऊँ टाइम्स

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s