रिपब्लिकन पार्टी ने डोनाल्ड ट्रंप की दावेदारी पर लगाया मुहर, पेंस का मुकाबला होगा कमला हैरिस से

वाशिंगटन / नई दिल्ली (ऊँ टाइम्स)  रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में विगत दिवल राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप व उपराष्ट्रपति माइक पेंस की दावेदारी पर मुहर लगा दी गई है। अमेरिका में तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में 74 वर्षीय ट्रंप डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रत्याशी व पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन (77) की चुनौतियों का सामना करेंगे। सम्मेलन के परमानेंट चेयर व प्रतिनिधि सभा में रिपब्लिकन नेता केविन मैककार्थी ने पेंस के उपराष्ट्रपति प्रत्याशी के रूप में चुने जाने की घोषणा की।
पेंस डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रत्याशी कमला हैरिस की चुनौतियों का सामना करेंगे। सम्मेलन की शुरुआत में ही पेंस की दावेदारी की घोषणा कर दी गई, जबकि राष्ट्रपति प्रत्याशी के रूप में ट्रंप के नाम पर मुहर बाद में लगी। इंडियाना के पूर्व गवर्नर पेंस ने वर्ष 2016 के चुनाव में ट्रंप के साथ ही जीत हासिल की थी। नामांकन प्रक्रिया खत्म होने के बाद सम्मेलन की चेयर रोना मैकडेनियल डेमोक्रेटिक पार्टी उम्मीदवार जो बिडेन व कमला हैरिस पर जमकर बरसीं।

रिपब्लिकन का सम्मेलन पारंपरिक रूप से आयोजित किया जा रहा है। इसमें पूरे दिन सत्रों और रात में मुख्य कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। ट्रंप चारो रात सम्मेलन को संबोधित करेंगे। साउथ कैरोलिना की दो बार गवर्नर रहीं निक्की हेली भारतीय मूल की एक मात्र अमेरिकी नेता हैं, जिन्हें वक्ताओं की सूची में रखा गया है। साउथ कैरोलिना में जन्मी निक्की हेली का मूल नाम निम्रता रंधावा था। उनके पिता अजीत सिंह रंधावा और माता राज कौर रंधावा पंजाब के अमृतसर से यहां आए थे।
प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप सम्मलेन को व्हाइट हाउस स्थित रोज गार्डन से बुधवार को संबोधित करेंगी। इसी दिन माइक पेंस भी सम्मेलन को संबोधित करेंगे। गुरुवार को अंतिम दिन ट्रंप स्वीकार्यता भाषण देंगे। बता दें कि डेमोक्रेटिक पार्टी ने जहां अपने सम्मेलन का आयोजन पूरी तरह वर्चुअल मोड में किया था, वहीं रिपब्लिकन के 336 प्रतिनिधि सम्मेलन में उपस्थित हैं और बाकी 2,551 प्रतिनिधि पूरे अमेरिका में स्थित पार्टी कार्यालयों में मौजूद रहकर वर्चुअली कार्यक्रम से जुड़ रहे हैं।
ट्रंप ने नॉर्थ कैरोलिना में सम्मेलन के पारंपरिक आयोजन की मांग की थी, जिसे डेमोक्रेट गवर्नर रॉय कूपर ने ठुकरा दिया था। इसके बाद उन्होंने फ्लोरिडा में सम्मेलन के आयोजन की घोषणा की थी, लेकिन बाद में वह कोरोना संक्रमण के कारण लागू प्रतिबंधों को मानते हुए शार्लेट में आयोजन की वापसी पर राजी हो गए थे।
राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि नवंबर में होने वाला चुनाव अमेरिकी इतिहास में सबसे अहम होगा। देश चाहे तो भयानक या महानता की दिशा में आगे बढ़ेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि डेमोक्रेट वर्ष 2016 की तरह चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं। यह बेहद खतरनाक है। नवंबर के चुनाव में अगर डेमोक्रेट को चुना गया तो चीन अमेरिका को जीत लेगा। डेमोक्रेट कोरोना संक्रमण का चुनावी फायदे के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। देश इसे कभी माफ नहीं करेगा। 

लेखक: OM TIMES News Paper India

omtimes news paper (Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रकाशक एवं प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 , 6307662484 🇮🇳 ऊँ टाइम्स

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s